13 साल से चल रहा फर्जी पेपर्स से ज़मानत कराने का खेल

जबलपुर
जबलपुर (Jabalpur) पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का भांडाफोड़ किया,जो जाली बही के जरिए आरोपियों को जमानत दिलाता था.पुलिस ने गिरोह के 7 सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके कब्ज़े से नकली बही,सील,कंप्यूटर और प्रिंटर जब्त किया है.इस गिरोह की वकीलों और बाबुओं से सांठगांठ का शक है.

जबलपुर ज़िले में न्यायालय से फर्जीवाड़े का सनसनीखेज़ मामला सामने आया है.इस मामले में पकड़े गए आरोपी महज एक से डेढ़ हजार रुपए में ही जाली बही और आधार कार्ड बनवाकर लोगों की कोर्ट से जमानत करवा देते थे. उस जमानत के एवज में आरोपियों के परिवार से मोटी रकम वसूला करते थे.

एक से डेढ़ हज़ार मे तैयार करते थे बही
लंबे समय से जबलपुर पुलिस को शिकायत मिल रही थी कि कोर्ट में ऐसा गिरोह सक्रिय है जो जाली बही और अन्य दस्तावेजों के आधार पर जमानत करवाता है.पुलिस के मुताबिक गिरोह का सरगना और मास्टर माइंड मुन्ना उर्फ शौकत गोहलपुर थाने का निगरानी शुदा बदमाश है. शौकत को सिविल लाइंस पुलिस ने जाली ज़मानत मामले में 2015 में गिरफ्तार भी किया था.इतना ही नहीं आरोपी शौकत के खिलाफ नरसिंहपुर जिले के कोतवाली में भी 2017 में इसी तरह का एक मामला दर्ज है,जिसमे शौकत फरार चल रहा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *