विपक्ष ने बजट को लेकर साधा निशाना, सोशल मीडिया में ट्रेंड होने लगे अंबानी

नई दिल्ली
देश का आम बजट एक फरवरी को पेश किया गया। इस बजट में हर क्षेत्र को कवर करने की कोशिश की गई मगर मिडिल क्लास कहीं न कहीं पिछड़ता हुआ दिखा। टैक्स स्लैब में उम्मीद के मुताबिक कुछ भी बदलाव नहीं किए गए। विपक्ष ने बजट को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। सबसे पहले इसकी शुरुआत नवजोत सिंह सिद्धू ने की। इसके बाद में ही सोशल मीडिया में भारत के उद्योगपति अंबानी और अडानी को लेकर लोग सरकार को घेरने लगे हैं।

निशाने पर अंबानी
अंबानी और अडानी को लेकर विपक्ष हमेशा से ही सरकार पर हमलावर रही है। जैसे ही आम बजट पूरा हुआ और लोगों ने बजट को पढ़ा देखा समझा वैसे ही सोशल मीडिया में अंबानी ट्रेंड करने लगा। ऐसा क्यों होता है कि अक्सर हम देखते हैं कि अंबानी और अडानी को निशाने पर लिया जाता है। हाल ही में किसान आंदोलन भी जोरो पर था। आंदोलनकारी किसान भी अंबानी और अडानी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सरकार पर आरोप लगा रहे थे।

कांग्रेस ने साधा निशाना
अब आज बजट पास हुआ है तो विपक्ष सरकार पर आरोप लगा रहा है कि ये बजट अंबानी को लाभ पहुंचाने वाला है। कांग्रेस के तमाम नेता इसको लेकर ट्वीट कर रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 2014 के बाद से ओएनजीसी का मार्केट कैप 4 लाख करोड़ से गिरकर 1.19 लाख करोड़ हो गया है, कोल इंडिया 1,81,000 करोड़ से 84,000 करोड़ और गेल 47,700 करोड़ से घटकर 27,700 करोड़ हो गया है। … इसका किसे फायदा होगा ??? अंबानी / अडानी उनके प्रत्यक्ष प्रतिस्पर्धी हैं।

रिलायंस की सम्पति बढ़ गई
सिद्धू ने एक और ट्वीट किया जिसमे लिखा है कि सरकार ने सार्वजनिक उपक्रमों को नष्ट करने और कॉर्पोरेट्स को बढ़ावा देने की योजना सार्वजनिक उपक्रमों की मार्केट कैप 40% तक गिर गई, जबकि रिलायंस 2.7 लाख करोड़ से 16 लाख करोड़ और अडानी की संपत्ति 19,000 करोड़ से बढ़कर 6 साल में 2.33 लाख करोड़ हो गई।

केजरीवाल ने साधा निशाना
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे चंद कंपनियों को फायदा मिलेगा। आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख ने कहा, 'यह बजट चंद बड़ी कम्पनियों को फ़ायदा पहुंचाने वाला बजट है। ये बजट महंगाई के साथ आम जन-मानस की समस्याएं बढ़ाने का काम करेगा।' वहीं आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा, 'आख़िर ये देश किसका है? 130 करोड़ लोगों का या मोदी जी के 4 पूंजीपति मित्रों का? सपूत संपत्ति बनाता है, कपूत सम्पत्ति बेचता है। आज का बजट देश को बेचने का बजट है।'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *