कांग्रेस अनुशासन समिति की कल होगी बैठक, पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा के भतीजे का निलंबन होगा निरस्त

भोपाल
कांग्रेस अनुशासन समिति की बैठक कल होने जा रही है। यह बैठक पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा के भतीजे शोमिल नाहटा का निलंबन रद्द कर बहाली को लेकर बुलाई गई है। पिछले दिनों नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियों को लेकर मंदसौर में जिला कांग्रेस की बैठक हुई थी। इस बैठक पर मारपीट हुई थी, जिसके चलते शोमिल नाहटा को पार्टी ने 6 साल के लिए निकाल दिया था।  वहीं 12 जनवरी को हुई बैठक में लिए गए निर्णयों पर भी चर्चा होगी।

गत दिनों मंदसौर जिला कांग्रेस की बैठक के दौरान पार्टी के नेता मो. खलील शेख ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार में कांग्रेसियों की अनदेखी की बात कह डाली, इसके बाद यहां पर विवाद हो गया।  शोमिल नाहटा पर आरोप है कि मंदसौर जिला कांग्रेस की बैठक में उन्होंने अपने समर्थकों के साथ मिलकर  शेख की पिटाई कर दी थी, जिससे उन्हे चोटें आई थी। जिला कांग्रेस अध्यक्ष नव कृष्ण पाटिल ने इसे अनुशासन का उल्लंघन मानते हुए शोमिल को निलंबित कर दिया था। इधर, युवा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के हुए चुनाव में शोमिल नाहटा ने विक्रांत भूरिया के समर्थन में नाम वापस लिया था। इस मामले में नाहटा से बड़े नेताओं ने चुनाव न लड़ने को कहा था। भूरिया ने प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद नाहटा को प्रदेश महासचिव बनाया है। इसके चलते उनका निलंबत रद्द किए जाने की कवायद कल की बैठक में हो सकती है।

समिति के अध्यक्ष पूर्व गृह मंत्री भारत सिंह हैं। प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री चंद्र प्रभाष शेखर समिति के उपाध्यक्ष हैं। समिति में पूर्व विधायक विनय दुबे, नन्ने लाल धुर्वे, बाबूलाल सोलंकी, रामेश्वर पटेल के साथ ही रिटायर्ड आईएएस अफसर अजीता बाजपेयी पांडे और सैयद साजिद अली सदस्य हैं।

अनुशासन समिति की पिछली बैठक 12 जनवरी को हुई थी। इसमें कई मामले सामने आए थे। जिनमें  उपचुनाव के बाद कांग्रेस के खिलाफ काम करने का सबसे चर्चित मामला मेहगांव सीट का था। वहीं पूर्व मंत्री एवं विधायक लाखन सिंह ने नगरीय निकाय चुनाव के लिए ग्वालियर में हुई बैठक में कहा था कि कमलनाथ के सर्वे धरे के धरे रह गए। वे कहते रहे कि सभी सीट जीत रहे हैं। इस बयान का वीडियो वायरल हुआ था, हालांकि इस मामले की शिकायत ग्वालियर जिला कांग्रेस की ओर से नहीं की गई है। इस मामले पर भी चर्चा हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *